जेलेंस्की बोले- रूसी हमें जान से मार सकते हैं, पर वो खुद भी जिंदा नहीं बचेंगे


कीव. रूस और यूक्रेन बीते 52 दिनों से जंग लड़ रहे हैं. दोनों देशों को जंग में नुकसान और तबाही का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की ने यूरोपीय देशों पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जो देश रूस से तेल खरीद रहे हैं, “वो दूसरों के ख़ून से सनी कमाई कर रहे हैं.”

राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने बीबीसी को दिए गए इंटरव्यू में कहा, “मारियुपोल में दसियों हज़ार लोगों की मौत हुई होगी. हमारे पास जानकारी है कि दसियों हज़ार लोग मारे गए हैं और उनके अलावा कई लोग लापाता भी हुए हैं. हमें पता है कि उनके दस्तावेज़ों को बदल दिया गया है, उन्हें रूसी पासपोर्ट दिए गए हैं और रूस में कहीं ले जाया गया है.” उन्होंने कहा, “कुछ लोगों को वहां राहत कैंपों में ले जाया गया है और कुछ को दूसरे शहरों में ले जाया गया है. किसी को नहीं पता कि उनके साथ क्या हो रहा है. कितने लोगों की अब तक मौत हुई है किसी को नहीं पता.”

52 दिनों के जंग में अमेरिका ने यूक्रेन को भेज दी इतनी मदद, रूस के खिलाफ ये है प्लान

बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में ज़ेलेंस्की ने जर्मनी और हंगरी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि उनके कारण रूस से तेल खरीद पर लगाए प्रतिबंध लागू करने को लेकर बाधा हो रही है. जेलेंस्की ने कहा कि इस निर्यात से रूस को इस साल 326 अरब डॉलर तक का फायदा हो सकता है.

कीव में मौजूद सिचुएशन रूम में गुरुवार को ज़ेलेंस्की ने कहा, “हमारे कुछ सहयोगी और दोस्त ये बात समझते हैं कि अब वक्त पहले जैसा नहीं रहा है, ये अब व्यवसाय या पैसे का मामला नहीं है. ये अब अस्तित्व बचाने का संघर्ष है.” राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय देशों से अपील की कि वो यूक्रेन को और अधिक हथियार दें और कहा कि रूसी हमले का जवाब देने के लिए उन्हें जल्द और हथियार चाहिए.

उन्होंने कहा, “अमेरिका, ब्रिटेन और कुछ यूरोपीय देश हमारी मदद की कोशिश कर रहे हैं और वो मदद कर भी रहे हैं. लेकिन हमें जल्द से जल्द और मदद चाहिए.”

जंग के बीच पुतिन के रक्षा मंत्री को आया हार्ट अटैक, शक के आधार पर 20 जनरल अरेस्ट

हाल के दिनों में यूक्रेन की राजधानी कीव और देश के उत्तरी और केंद्रीय इलाक़ों को घेरने की कोशिश कर रही रूसी सेना ने अपने सैनिक यहां से पीछे हटा लिए हैं. माना जा रहा है कि रूसी सेना ने ताकत के बल पर पूरे यूक्रेन को अपने कब्ज़े में लेने की कोशिश को अब छोड़ दिया है.

शांति के लिए बातचीत की संभावना और कम हुई
यूक्रेन का दक्षिणी शहर मारियुपोल रूसी सेना के लगातार हमलों के कारण बुरी तरह तबाह हो चुका है. इस शहर को रूसी राष्ट्रपति पुतिन रणनीतिक तौर पर अहम मानते रहे हैं.

Tags: Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here