यूक्रेन के साथ-साथ यूरोप भी पुतिन के निशाने पर? कीव के पास सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है रूस


कीव: रूस के साथ युद्ध (Ukraine-Russia War) के बीच यूक्रेन की सेना ने दावा किया है कि रूस अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है और यूक्रेनी रक्षा पंक्ति को भेदने की कोशिश कर रहा है. यूक्रेनियाई सैन्य कमान ने रविवार को कहा कि रूसी सैनिक खारकीव के दक्षिण पूर्व में इजुम के नजदीक लगातार यूक्रेनी रक्षा पंक्ति को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं. खबर है कि रूस इजुम में तैनाती के लिए सैनिकों को भेज रहा है, जबकि खारकीव में गोलाबारी जारी है. यूक्रेन की सेना ने बताया कि रूसी सैनिक ऑफ अजव पोर्ट मारियुपोल पर नियंत्रण करने का भी प्रयास कर रहे हैं जिसकी रूसी बलों ने करीब डेढ़ महीने तक घेराबंदी की थी.

रूसी सेना ने कीव और पूर्वोत्तर यूक्रेन के बड़े शहरों पर कब्जा करने की कोशिश की थी, लेकिन वह असफल रही. यूक्रेन और पश्चिमी देशों के अधिकारियों को आशंका है कि रूस नए सिरे से पूर्वी यूक्रेन में कार्रवाई कर सकता है जहां पर मॉस्को समर्थित अलगाववादी पिछले आठ साल से यूक्रेन की सेना से लड़ रहे हैं.

रूसी आक्रामकता केवल यूक्रेन तक सीमित नहीं है: जेलेंस्की

दूसरी ओर, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि रूस अपनी आक्रामकता के जरिए पूरे यूरोप को निशाना बना रहा है और उनके देश पर रूसी आक्रमण को रोकना सभी लोकतंत्रों की सुरक्षा के लिए जरूरी है. जेलेंस्की ने शनिवार देर रात राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि रूसी हमला ‘केवल यूक्रेन तक सीमित रहने के इरादे से नहीं किया गया’ और ‘पूरी यूरोपीय परियोजना रूस का लक्ष्य है.’ उन्होंने कहा, ‘इसलिए यह केवल सभी लोकतांत्रिक देशों का ही नहीं, बल्कि यूरोप की सभी ताकतों का नैतिक कर्तव्य है कि वे शांति के लिए यूक्रेन की इच्छा का समर्थन करें. दरअसल यह हर सभ्य देश के लिए रक्षा की रणनीति है.’

यूक्रेन में अब थक रहे रूसी सैनिक! पकड़े जाने पर ऐसे निकाल रहे दिल का गुबार

कई यूरोपीय नेताओं ने युद्धगस्त राष्ट्र यूक्रेन के साथ एकजुटता दिखाने के प्रयास किए हैं. जेलेंस्की ने यूक्रेन की राजधानी कीव की यात्रा करने के लिए ब्रिटेन और ऑस्ट्रिया के नेताओं को धन्यवाद दिया. उन्होंने वैश्विक स्तर पर निधि जुटाने के कार्यक्रम के लिए यूरोपीय आयोग अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन को भी धन्यवाद दिया. इस कार्यक्रम से यूक्रेनी नागरिकों की मदद के लिए 10 अरब यूरो से अधिक जुटाए गए. जेलेंस्की ने रूसी तेल और गैस पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के अपने आह्वान को दोहराया.

उन्होंने पूर्वी यूक्रेन के क्रामातोर्स्क में एक रेलवे स्टेशन पर हुए हमले को रूसी सेना के युद्ध अपराध का ताजा उदाहरण बताया और कहा कि इसे देखने के बाद पश्चिमी देशों को यूक्रेन की मदद करने के लिए और कदम उठाने चाहिए. रेलवे स्टेशन पर हुए हमले में 52 लोगों की मौत हो गई है और 100 से अधिक लोग घायल हो गए. इस बीच, रूस ने इस हमले की जिम्मेदारी लेने से इनकार किया है और हमले का दोष मास्को पर मढ़ने के लिए यूक्रेन की सेना पर यह हमला करने का आरोप लगाया है.

Tags: Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here