बच्चों को सुलाने के लिए मेलाटोनिन की गोलियां देना कितना सही, क्या हैं जोखिम?


हाइलाइट्स

बच्चों को सुलाने के लिए मेलाटोनिन वाली लॉली कितनी सही है
मेलाटोनिन हमें निश्चित समय पर सुला देता है
हमारे शरीर की आंतरिक घड़ी द्वारा निर्धारित किया जाता है

मेलबर्न. मनोवैज्ञानिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए नींद महत्वपूर्ण है, लेकिन कई बच्चों को सोने में परेशानी होती है, या रात में नींद से जागने पर दोबारा सोने में परेशानी होती है. यह बच्चों और माता-पिता दोनों के लिए थकाऊ हो सकता है, और कुछ माता-पिता अपने बच्चों को सुलाने के लिए मेलाटोनिन वाली लॉली देने लगे हैं. विदेशों में या ऑनलाइन खरीदी गई इन गमीज का उपयोग उनके बच्चों की नींद में सुधार के लिए किया जाता है. मैंने पिछले 15 वर्षों में बच्चों की नींद की समस्याओं और कठिनाइयों के निदान और उपचार पर शोध किया है, और मैं बच्चों में मेलाटोनिन के उपयोग के लिए अंतर्राष्ट्रीय बाल चिकित्सा नींद एसोसिएशन के कार्यबल में भी हूं. बच्चों के लिए मेलाटोनिन गमीज़ के लाभों और जोखिमों के बारे में विज्ञान क्या कहता है.

मेलाटोनिन एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला हार्मोन है जो हमारे दिमाग में स्रावित होता है. यह हमारी नींद और जागने की लय के समय और गुणवत्ता से संबंधित है और हमारे शरीर की आंतरिक घड़ी द्वारा निर्धारित किया जाता है. मेलाटोनिन हमें निश्चित समय पर सुला देता है. यह तब स्रावित होने लगता है जब हमारा शरीर सोने के लिए तैयार हो रहा होता है और आमतौर पर इसका पूरा असर होने में लगभग 30 से 45 मिनट का समय लगता है. रात के मध्य में मेलाटोनिन का स्राव अपने उच्चतम स्तर पर होता है और धीरे-धीरे कम होना शुरू हो जाता है जब तक कि हम जागने और अपना दिन शुरू करने के लिए तैयार नहीं हो जाते. ऑटिज्म स्पेक्ट्रम विकार या स्मिथ मैगनिस सिंड्रोम के शिकार बच्चों के लिए, ऑस्ट्रेलिया में थेराप्यूटिक गुड्स एडमिनिस्ट्रेशन (टीजीए) मेलाटोनिन की सिफारिश करता है – लेकिन इसे लेने की सिफारिश केवल एक स्वास्थ्य पेशेवर द्वारा की जानी चाहिए, और इसका उपयोग केवल तब किया जाना चाहिए जब नींद के सामान्य उपाय काम न आ रहे हों.

इसके प्रभाव को लेकर दीर्घकालिक शोध नहीं किया गया

यह नींद आने में बहुत मददगार, प्रभावी और न्यूनतम साइड इफेक्ट (मुख्य रूप से सिरदर्द, उनींदापन और कभी-कभी चिड़चिड़ापन) के साथ आता है. लेकिन टीजीए उन बच्चों के लिए मेलाटोनिन की सिफारिश नहीं करता है जिन्हें ऑटिज्म स्पेक्ट्रम विकार या स्मिथ मैगनिस सिंड्रोम नहीं है. यह मुख्य रूप से इसलिए है क्योंकि इसके प्रभाव को लेकर दीर्घकालिक शोध नहीं किया गया है, और अधिकांश बच्चों की नींद की समस्याओं को आमतौर पर दवाओं के बजाय व्यवहारिक और मनोवैज्ञानिक नींद तकनीकों के साथ प्रबंधित किया जा सकता है. मेलाटोनिन की बिक्री पूरे अमेरिका और कनाडा (जहां यह बिना डॉक्टर के पर्चे के उपलब्ध है) और पूरे यूरोप में तेजी से बढ़ रही है. ऑस्ट्रेलिया में, वयस्कों को नींद संबंधी विकारों के इलाज के लिए डाक्टर की सिफारिश पर मेलाटोनिन दिया जाता है, लेकिन अब यह 55 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए डाक्टर के पर्चे के बिना भी उपलब्ध है. वयस्कों में इसकी प्रभावकारिता और सुरक्षा स्थापित है.

दिव्‍यांग बच्‍चों को सुलाने में हो रहा इस्‍तेमाल 

इस विषय पर एक हालिया प्रकाशित अध्ययन (जो अभी तक क्षेत्र में अन्य विशेषज्ञों द्वारा सहकर्मी-समीक्षा की जानी बाकी है) सीक्यूयू शोधकर्ता एलिसन ग्लास द्वारा किया गया था, जिसमें मैं पर्यवेक्षक के रूप में था. इस अध्ययन में नींद न आने की बीमारी वाले बच्चों के 255 ऑस्ट्रेलियाई माता-पिता (ऑनलाइन समूहों और नेटवर्क से चुने गए) का सर्वेक्षण शामिल था. इनमें से लगभग 70 प्रतिशत ने बताया कि अपने बच्चों को सोने में मदद करने के लिए उन्होंने मेलाटोनिन का इस्तेमाल किया. जिन लोगों ने अपने बच्चों के लिए मेलाटोनिन का इस्तेमाल किया, उनमें से लगभग 25 प्रतिशत के बच्चे ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर या स्मिथ मैगनिस सिंड्रोम से पीड़ित थे. लेकिन बाकी लगभग 75 प्रतिशत ने अपने बच्चों के लिए मेलाटोनिन का इस्तेमाल किया, भले ही उनमें ऑटिज्म स्पेक्ट्रम विकार या स्मिथ मैगनिस सिंड्रोम नहीं था.

मेलाटोनिन की सही गुणवत्ता या मात्रा अज्ञात होने का जोखिम 

इस संबंध में दीर्घकालिक शोध अध्ययन बहुत कम हैं और ऑनलाइन खरीदे जाने वाले मेलाटोनिन की गुणवत्ता और सुरक्षा को लेकर भी कम अध्ययन किए गए हैं. एक कनाडाई अध्ययन ने मेलाटोनिन की खुराक के 31 ब्रांडों की जांच की. शोधकर्ताओं ने 26 प्रतिशत सप्लीमेंट्स में सक्रिय मेलाटोनिन और एक दूषित (इस मामले में, सेरोटोनिन) की लेबल पर बताई गई मात्रा के मुकाबले भारी विसंगतियां पाईं. दूसरे शब्दों में, गमी में मौजूद मेलाटोनिन की सही गुणवत्ता या मात्रा अज्ञात हो सकती है. इससे यह सवाल उठता है कि क्या बच्चों को ये अपेक्षाकृत बिना शोध वाली दवाएं देना जरूरी है. टीजीए की मेडिसिन शेड्यूलिंग पर सलाहकार समिति ने 2017 में कहा था कि माता-पिता की नींद की कमी दुर्बल और खतरनाक हो सकती है. यह समझ में आता है कि नींद न आने से परेशान बच्चों के माता-पिता बच्चों को सुलाने के लिए सबसे तेज़ तरीका तलाशेंगे. लेकिन बच्चों में मेलाटोनिन के उपयोग के बारे में दीर्घकालिक शोध की कमी है.

तो नींद से वंचित माता-पिता क्या कर सकते हैं?

स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों से बात करें. बच्चों के लिए किसी भी दवा पर विचार करते समय यह महत्वपूर्ण है; दुष्प्रभावों की निगरानी के लिए निरंतर अनुवर्ती कार्रवाई और प्रगति महत्वपूर्ण है. मेलाटोनिन या किसी अन्य विकल्प पर विचार करने से पहले, अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से व्यवहार तकनीकों के बारे में पूछें जिनका उपयोग आप स्वस्थ नींद की आदतों को बढ़ावा देने के लिए कर सकते हैं. नींद की कमी थकाऊ है और माता-पिता काफी हताश हैं. हालांकि, मैं मेलाटोनिन को ऑनलाइन या किसी योग्य स्वास्थ्य पेशेवर के मार्गदर्शन के बिना खरीदने में सावधानी बरतने की सलाह देता हूं.

Tags: Better sleep



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here