मैक्रों के सवालों से तंग आकर पुतिन ने बनाया बहाना- जिम में हूं, फिर आईस हॉकी खेलूंगा; ऑडियो लीक


मॉस्को. रूस और यूक्रेन की जंग 24 फरवरी से लगातार जारी है. जंग पांचवें महीने में पहुंच चुकी हैं, मगर कोई नतीजा निकलता नहीं दिख रहा. रिपोर्ट के मुताबिक, हमले की शुरुआत से पहले दुनिया के कई नेताओं ने इसे रोकने के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन (Vladimir Putin) को मनाने की कोशिश की थी. इसमें फ्रांस के राष्ट्रपति मैनुएल मैक्रों सबसे आगे थे. दोनों की बीच हुई बातचीत का एक ऑडियो लीक हुआ है.

CNN की रिपोर्ट के मुताबिक, 20 फरवरी को फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने पुतिन को फोन किया. दोनों नेताओं के बीच लंबी बातचीत हुई. कई मौकों पर पुतिन झल्लाए. पुतिन बातचीत जल्द खत्म करना चाहते थे. फोन काटने से पहले रूसी राष्ट्रपति ने कहा- ‘मिस्टर प्रेसिडेंट, मैं अभी जिम में हूं. एक्सरसाइज के बाद आईस हॉकी खेलने जाउंगा.’ मैक्रों इशारा समझ गए और उन्होंने भी गुडबाय कहकर बातचीत खत्म की.

मॉडलिंग छोड़कर रूस के खिलाफ थामी थी राइफल, मिसाइल अटैक में हुई मौत

ऑडियो लीक से रूस नाराज
रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने पुतिन-मैक्रों की बातचीत का ऑडियो लीक होने पर सख्त नाराजगी जाहिर की है. लावरोव ने कहा- ‘यह डिप्लोमैटिक एटिकेट्स के खिलाफ है. दो बड़े नेताओं की बातचीत का टेप आखिर लीक हुआ, तो कैसे? कौन इसकी जिम्मेदारी लेगा. इससे भी बड़ी बात यह है कि आपसी भरोसा कम होने का जिम्मेदार कौन होगा.’

ऑडियो लीक में क्या है?
फ्रांस के टीवी चैनल ‘फ्रांस 2’ ने यह ऑडियो टेप जारी किया है. बातचीत ट्रांसलेटर्स के जरिए हुई. इसमें एक जगह पुतिन मैक्रों से कहते हैं- ‘आपको हमसे पहले उन लोगों से बातचीत करना चाहिए, जो यूक्रेन में रहकर रूस का समर्थन कर रहे हैं.’ इस पर मैक्रों नाराजगी भरे अंदाज में कहते हैं- ‘पता नहीं आपको कौन से वकील ये सलाह दे रहे हैं और उन्होंने कानून की पढ़ाई कहां से की है.’

इस पर पुतिन कहते हैं- ‘यूक्रेन में चुनी हुई सरकार नहीं है. जेलेंस्की तख्तापलट करके सत्ता में आए हैं. आप उनका समर्थन कर रहे हैं.’

मैक्रों कहते हैं- ‘हम किसी विद्रोही गुट से बातचीत नहीं करेंगे. आप ये बताएं कि रूस के इरादे क्या हैं? क्या हम कोई सकारात्मक पहल की उम्मीद कर सकते हैं, जिससे जंग को रोका जा सके.’

पुतिन नहीं रोकना चाहते थे अटैक
इस बातचीत से साफ संकेत मिलते हैं कि पुतिन यूक्रेन पर हमला किसी सूरत में रोकना नहीं चाहते थे. वो बार-बार यही कहते रहे कि यूक्रेन को रूस का समर्थन करने वाले यूक्रेन विद्रोही गुट से बातचीत करनी चाहिए. मैक्रों ऐसा करने से साफ इनकार कर देते हैं. मैक्रों कहते हैं- ‘नाटो और यूक्रेन, दोनों किसी विद्रोही गुट से बातचीत करने को तैयार नहीं हैं.’

नाटो देशों में शामिल होंगे स्वीडन-फिनलैंड! सदस्य बनाने संबंधी प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए

साफ पता लगता है कि रूसी राष्ट्रपति यूक्रेन पर हमले का मन बना चुके थे और यह टेलिफोनिक बातचीत भी जल्द खत्म करना चाहते थे. इसलिए पुतिन कहते हैं- ‘साफतौर पर कहूं तो मैं आईस हॉकी खेलना जाना चाहता हूं. अभी जिम में हूं और यहीं से बात कर रहा हूं.’

इस पर मैक्रों कहते हैं- ‘क्या हम एक जॉइंट स्टेटमेंट जारी कर सकते हैं.’ जवाब में पुतिन कहते हैं- ‘मैं अपने एडवाइजर्स से सलाह लेकर आपको इस बारे में बताउंगा.’

Tags: Emmanuel Macron, Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here