रूस के हमलों में 3153 नागरिकों की मौत, पढ़ें यूक्रेन जंग के 10 अपडेट


Russia-Ukraine War News Update: रूस और यूक्रेन जंग को दो महीने से ज्यादा वक्त हो चुका है. हालांकि, रूस इसे एक स्पेशल ऑपरेशन ही बताता रहा है. जंग में यूक्रेन तबाह तो ही रहा है, लेकिन रूस को भी अच्छा खासा नुकसान पहुंच रहा है. अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि अब रूस 9 मई को औपचारिक रूप से यूक्रेन के खिलाफ युद्ध का ऐलान कर सकता है.

रिपोर्ट के मुताबिक, रूस हर साल 9 मई को विकट्री डे के रूप में मनाता है. सेकेंड वर्ल्ड वॉर के दौरान 1945 में इसी दिन रूस ने हिटलर की नाजी सेना को मात दी थी. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन इसी दिन यूक्रेन में एक सैन्य कामयाबी हासिल करने के लिए युद्ध का ऐलान कर सकते हैं.

जेलेंस्की का रूसी विदेश मंत्री पर तंज
दूसरी तरफ यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने रूस के विदेश मंत्री पर तंज करते हुए कहा है कि वो सेकेंड वर्ल्ड वॉर के सभी सबक भूल गए हैं. दरअसल, रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने बीते रोज जेलेंस्की की तुलना जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर से की थी.

आइए जानते हैं रूस और यूक्रेन जंग के अब तक के 10 अपडेट…

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने यूक्रेन को 37.5 करोड़ डॉलर की सैन्य मदद भेजने की बात कही है. ब्रिटेन यूक्रेन को इलेक्ट्रॉनिक वॉर इक्विपमेंट और एक काउंटर-बैटरी रडार सिस्टम भेजेगा.

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के मुताबिक, रूसी हमले की वजह से 24 फरवरी से अब तक 3,153 यूक्रेनी नागरिक मारे जा हैं, जबकि 3,316 घायल हुए हैं. वहीं, ओडेसा पर रूसी मिसाइल हमले में एक 14 साल के लड़के की मौत हो गई, जबकि एक 17 साल की लड़की घायल हो गई.

डेनमार्क और स्वीडन जल्द ही अपनी एम्बेसी यूक्रेनी का राजधानी कीव में शिफ्ट कर देंगे. स्वीडिश एम्बेसी अगले बुधवार तक ही लौटने का प्लान कर रही है.

वहीं, अमेरिकी दूतावास भी मई के आखिर तक कीव लौट सकता है. रूसी हमले की वजह से बहुत से देशों ने कीव में अपने दूतावास बंद कर दिए थे.

रूस के विदेश मंत्री ने दावा है कि लगभग दस लाख यूक्रेनी लोग अपनी मर्जी से यूक्रेन छोड़कर रूस पहुंचे हैं.

यूक्रेन पर हमले की वजह से रूस में गैसोलीन की कमी हो गई है, जिस वजह से गैस स्टेशनों के बाहर लंबी लाइन लगी है.

ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय की सीक्रेट रिपोर्ट के मुताबिक, खेरसॉन पर सैन्य कब्जे के बाद रूसी सेना यहां बड़े पैमाने पर आर्थिक बदलाव कर रही है. इसके लिए यहां पर यूक्रेनी मुद्रा को रूसी मुद्रा रूबल से बदला जा रहा है.

इससे पहले यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने शनिवार देर रात रूसी भाषा में दिए अपने वीडियो संबोधन में रूसी सैनिकों से यूक्रेन में युद्ध न लड़ने की अपील की. उन्होंने कहा कि रूस के सैन्य अधिकारी भी जानते थे कि यूक्रेन युद्ध में हजारों रूसी सैनिक मारे जा सकते हैं.

रूसी सेना की घेरेबंदी के बाद यूक्रेन के मारियुपोल शहर के एक इस्पात संयंत्र के भीतर छिपे यूक्रेनी नागरिकों को बाहर निकालने का अभियान शुरू कर दिया गया है. स्थानीय अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा है कि इस्पात संयंत्र से निकाले गए 100 से अधिक नागरिकों के सोमवार को यूक्रेन के नियंत्रण वाले जापोरिज्जिया शहर पहुंचने की उम्मीद है.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here