रूस से जंग के बीच जेलेंस्की ने उठाया बड़ा कदम, भारत सहित 5 देशों से अपने राजदूतों को किया बर्खास्त


Volodymyr Zelenskyy- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO
Volodymyr Zelenskyy

Highlights

  • जर्मनी, भारत, चेक गणराज्य, नॉर्वे और हंगरी मेंराजदूतों को किया बर्खास्त
  • मारियुपोल में स्टील प्लांट के पास धमाके, 3 की मौत
  • यूक्रेन के पूर्वी और दक्षिणी इलाकों में भारी बमबारी

Russia Ukraine War News: रूस और यूक्रेन के बीच जंग जारी है। यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की और रूस के राष्ट्रपति पुतिन के बीच बार बातचीत की परिस्थितियां भी बनीं, लेकिन बात नहीं हुई। इसी बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने बड़ा निर्णय लिया है। उन्होंने भारत सहित 5 देशों में तैनात अपने राजदूतों को हटा दिया है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने जर्मनी, भारत, चेक गणराज्य, नॉर्वे और हंगरी में यूक्रेन के राजदूतों को बर्खास्त करने की घोषणा की। हालांकि आदेश में यह भी नहीं बताया गया है कि इन राजदूतों को किसी दूसरी जगह पोस्टिंग मिलेगी या नहीं। वहीं राष्ट्रपति जेलेंस्की ने अपने आदेश में राजनयिकों से  लिए अंतरराष्ट्रीय समर्थन और सैन्य सहायता को जुटाने का भी आग्रह किया है।

उधर, रूस लगातार यूक्रेन पर हमले कर रहा है। यूक्रेन के पूर्वी औद्योगिक प्रांत लुहांस्क में अस्थायी तौर पर हमले रोके जाने की खबरों के बीच स्थानीय गवर्नर ने आरोप लगाया कि रूसी सैनिक इस इलाके को नरक बना रहे हैं। यूक्रेन सरकार ने हमले से पहले दक्षिण में रूस के नियंत्रण वाले क्षेत्र के निवासियों से किसी भी हाल में इलाका छोड़ देने की अपील की है। 

मारियुपोल में स्टील प्लांट के पास धमाके, 3 की मौत

रूस यूक्रेन के कई इलाकों पर बमबारी कर रहा है। मारियुपोल के मेयर के सहयोगी पेट्रो एंड्रीशचेंको के अनुसार 9 जुलाई को अजोवस्टल स्टील प्लांट के पास दो धमाके हुए,  जिससे वहां आग लग गई। उन्होंने कहा कि इस हमले में तीन लोगों की मौत हो गई जबकि कई घायल हो गए। 

यूक्रेन के पूर्वी और दक्षिणी इलाकों में भारी बमबारी

यूक्रेन के पूर्वी और दक्षिणी हिस्से में भी रूस ने भारी बमबारी की है। रूसी सेना ने रात के समय प्रांत में 20 से अधिक मोर्टार और रॉकेट दागे और उसकी सेना दोनेत्स्क की सीमा में घुसने का प्रयास कर रही है। इस बीच यूक्रेन की उप प्रधानमंत्री इरिना वी. ने रूस के कब्जे वाले देश के दक्षिणी हिस्से के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों से जल्दी ही यह इलाका छोड़कर चले जाने की अपील की, ताकि यूक्रेन द्वारा हमले किए जाने की स्थिति में रूसी सैनिक ढाल के रूप में उनका उपयोग नहीं कर सकें।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here