Argentina Vice President attacked: क्या अब विभिन्न देशों के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति पर हो सकता है हमला, जानें क्यों उठ रहे सवाल


Argentina- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV
Argentina

Highlights

  • क्या दुनिया भर के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति हो गए हैं असुरक्षित
  • जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे की हत्या के बाद अर्जेंटीना की उपराष्ट्रति पर जानलेवा हमले से उठा सवाल
  • आखिर सुरक्षा घेरे को कैसे भेदकर पहुंच जा रहे शीर्ष नेताओं के पास हमलावर

Argentina Vice President attacked: जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की सनसनीखेज हत्या का मामला अभी दुनिया के जेहन से उतरा भी नहीं था कि अब  अर्जेंटीना की उपराष्ट्रपति क्रिस्टीना फर्नांडीज की हत्या करने की नाकाम कोशिश करके अज्ञात हमलावरों ने हलचल मचा दी है। हमलावरों ने अर्जेंटीना की उपराष्ट्रपति पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाने की नीयत से उन पर हमला कर दिया। वह तो गनीमत रही कि उनकी पिस्तौल से गोली नहीं चली। इससे उनकी जान बच गई। ऐसे में अब सवाल उठता है कि क्या अन्य देशों के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री पर भी हमला हो सकता है। क्या विभिन्न देशों के पीएम और राष्ट्रपति भी अब सुरक्षित नहीं रहे। आइपे आपको बताते हैं कि अर्जेंटीना की उपराष्ट्रपति पर हमला किसने किया और उनकी जान फिर कैसे बची। 

 

अर्जेंटीना के राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज ने बताया कि देश की उपराष्ट्रपति क्रिस्टीना फर्नांडीज के घर के बाहर उनकी हत्या करने की कोशिश की गई। एक व्यक्ति ने उन पर पिस्तौल तान दी थी, लेकिन वह चली नहीं। अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार रात हुई घटना के तुरंत बाद संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ लिया गया। राष्ट्रपति ने घटना के बाद एक राष्ट्रीय प्रसारक से कहा, ‘‘ एक व्यक्ति ने उनके सिर पर (बृहस्पतिवार रात) हथियार ताना।’’ उन्होंने कहा कि गोली नहीं चली, जबकि ‘‘ उसने ट्रिगर खींच दिया था।’’ उपराष्ट्रपति क्रिस्टीना फर्नांडीज 2007 से 2015 तक देश की राष्ट्रपति भी रह चुकी हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि उपराष्ट्रपति को कोई चोट नहीं आई है। संदिग्ध व्यक्ति उनके समर्थकों के बीच खड़ा था, जिसे घटना के तुरंत बाद पकड़ लिया गया। मौके पर मौजूद जिना दे बई ने ‘द एसोसिएटेड प्रेस’ को बताया कि उन्होंने ‘‘ट्रिगर खींचने की आवाज सुनी थी।’’ उन्होंने कहा कि सुरक्षा कर्मियों के संदिग्ध को पकड़ने तक उन्हें एहसास नहीं हुआ था कि वह किसी हथियार की आवाज है। 

राष्ट्रपति ने घटना को बताया बेहद गंभीर

राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज ने इसे 1983 में ‘‘देश में लोकतंत्र बहाल होने के बाद की अभी तक की सबसे गंभीर घटना बताया।’’ घटना ऐसे समय में हुई है, जब उपराष्ट्रपति के खिलाफ उनके 2007-2015 के राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान भ्रष्टाचार के कथित कृत्यों के संबंध में मुकदमे चल रहे हैं। स्थानीय टेलीविजन चैनल पर प्रसारित घटनास्थल के वीडियो में फर्नांडीज अपने घर के बाहर समर्थकों से घिरे अपने वाहन से बाहर निकलती दिख रहीं है और तभी एक व्यक्ति ‘‘पिस्तौल’’ जैसी दिखने वाली कोई एक वस्तु लिए नजर आ रहा है। हालांकि, उपराष्ट्रपति वहां से निकलने में कामयाब रहीं। वीडियो में मौके पर मौजूद उपराष्ट्रपति के समर्थक भी स्तब्ध नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर प्रसारित असत्यापित वीडियो में हथियार फर्नांडीज के चेहरे को लगभग छूता नजर आ रहा है।

कौन था हमलावर 

 एक अधिकारी ने बताया कि हमलावर की पहचान ब्राजील के नागरिक फर्नांडो आंद्रे सबाग मोंटिएल के तौर पर हुई है। उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है। उसके पास .32-कैलिबर बर्सा पिस्तौल थी। राष्ट्रपति ने उपराष्ट्रपति के साथ एकजुटता व्यक्त करने और लोगों को इस घटना से उबरने का समय देने के लिए शुक्रवार को छुट्टी की घोषणा की है। गौरतलब है कि एक अभियोजक ने पिछले सप्ताह सार्वजनिक कार्यों में कथित भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में फर्नांडीज को 12 साल की सजा देने की मांग की थी, जिसके बाद से उपराष्ट्रपति के समर्थक उनके साथ एकजुटता दिखाने के लिए उनके घर के आसपास सड़कों पर जमा होते रहे हैं। सरकार के अधिकारियों ने इस घटना को हत्या का प्रयास बताया है। 

वित्त मंत्री सर्जियो मास्सा ने कहा, ‘‘ जब विचारों पर नफरत व हिंसा थोपी जाती है, तो समाज बर्बाद हो जाते हैं और आज जैसी स्थिति उत्पन्न होती है। यह हत्या का प्रयास है।’’ राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज की सरकार में मंत्रियों ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि वे उपराष्ट्रपति की ‘‘हत्या के प्रयास की कड़ी निंदा करते हैं।’’ विज्ञप्ति में कहा गया, ‘‘आज रात जो हुआ वह अत्यधिक गंभीर घटना है और लोकतंत्र, संस्थाओं व कानून के शासन के लिए खतरा है।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here