Russia-Ukraine War: यूक्रेन छोड़कर रूस आने वालों को पुतिन का बंपर ऑफर, हर महीने मिलेगी पेंशन


Russia-Ukraine War- India TV Hindi News
Image Source : AP
Russia-Ukraine War

Highlights

  • 18 फरवरी से यूक्रेनी क्षेत्र छोड़ दिया है
  • प्रत्येक व्यक्ति को 10,000 रूबल का भुगतान करने का आदेश दिया
  • इन इलाकों पर पूरी तरह से रूस का नियत्रंण है

Russia-Ukraine War: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन से आने वाले लोगों के लिए आर्थिक मदद की देने का ऐलान किया है। शनिवार को एक सरकारी दस्तावेज पर हस्ताक्षर करते हुए उन्होंने संबंधित विभाग को यूक्रेन छोड़ने वाले लोगों की मदद करने की निर्देश दी है। इसके तहत यूक्रेन से रूस आने वाले लोगों के लिए वित्तीय सहायता शुरू की गई है, जिसमें पेंशनभोगी, गर्भवती महिलाएं और विकलांग शामिल हैं। एक सरकारी पोर्टल पर प्रकाशित डिक्री के अनुसार, उन लोगों के लिए 10,000 रूबल मासिक पेंशन भुगतान की व्यवस्था की गई है, जिन्होंने 18 फरवरी से यूक्रेनी क्षेत्र छोड़ दिया है और मजबूरी में रूस में शरण ली है। विकलांग लोग भी उसी मासिक सहायता के लिए पात्र होंगे जबकि गर्भवती महिलाएं एकमुश्त लाभ की हकदार हैं यानी भारतीय रुपये में में बात करें तो ये राशि लगभग 13,500 होगी। 

यूक्रेनी करते हैं हवाई हमला 

डिक्री में कहा गया है कि यूक्रेन के नागरिकों और स्व-घोषित डोनेट्स्क और लुहान्स्क पीपुल्स रिपब्लिक को राशि की भुगतान की जाएगी। आपको बता दें कि रूस ने फरवरी के अंत में यूक्रेन पर आक्रमण किया था। बेलारूस के अलावा, दुनिया के किसी भी देश ने इन क्षेत्रों को स्वतंत्र क्षेत्रों को अधिकारिक तौर पर स्वीकार्य किया है। इस क्षेत्र को सबसे अधिक रूसी हमले की दंश झेलनी पड़ी है। अब इन इलाकों पर पूरी तरह से रूस का नियत्रंण है, इस कारण से यूक्रेनी सेना मिसाइल हमलों से रूसी समर्थक विद्रोहियों को निशाना बनाकर वार करता है। हमेशा नागरिक भी इन हमलों के शिकार हो जाते हैं। इसके कारण लोगों के विस्थापन की संख्या में काफी वृद्धि हुई है।

रूस यूक्रेन के लोगों दे रहा है पासपोर्ट 
18 फरवरी को पुतिन ने डोनेट्स्क और लुहान्स्क से रूस आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को 10,000 रूबल का भुगतान करने का आदेश दिया। अब इसमें यूक्रेन के सभी नागरिक भी शामिल हो गए हैं। रूस पहले से ही यूक्रेन के निवासियों को रूसी पासपोर्ट वितरित कर रहा है। वहीं यूक्रेन और अमेरिका का कहना है कि रूस डोनबास पर जबरन कब्जा कर अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन कर रहा है. वहीं, रूस का कहना है कि वह खुद को बचाने और रूसी बोलने वालों की रक्षा के लिए एक विशेष सैन्य अभियान चला रहा है।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here