पाकिस्तानी पीएम और उनके बेटे पर गिरी गाज, मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट ने किया तलब


Pakistani Prime Minister Shahbaz Sharif(File Photo)- India TV Hindi News
Image Source : AP
Pakistani Prime Minister Shahbaz Sharif(File Photo)

Highlights

  • लाहौर की एक स्पेशल कोर्ट कर रही मनी लॉन्ड्रिंग केस की सुनवाई
  • FIA की रिपोर्ट में शहबाज परिवार के 28 बेनामी खातों का पता लगाया गया

Pakistan News: पाकिस्तान की एक स्पेशल कोर्ट ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में पाकिस्तानी पीएम शहबाज शरीफ और उनके बेटे हमजा शहबाज को तलब किया है। कोर्ट ने उन्हें 16 अरब रूपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उन पर आरोप तय करने के लिए शनिवार को उन्हें सात सितंबर के लिए तलब किया । संघीय जांच एजेंसी (FIA) ने शहबाज (70), उनके बेटों –हमजा (47) और सुलेमान (40) के विरूद्ध भ्रष्टाचार एवं धनशोधन रोकथाम अधिनियम(Prevention of Corruption and Money Laundering Act) की विभिन्न धाराओं के तहत नवंबर 2020 में मामला दर्ज किया था। 

लाहौर की एक स्पेशल कोर्ट कर रही मामले की सुनवाई

लाहौर की एक स्पेशल कोर्ट इस मामले की सुनवाई कर रही है और वह पहले ही पिता एवं पुत्र को गिरफ्तारी पूर्व जमानत दे चुकी है। कोर्ट में शहबाज और हमजा सुनवाई के दौरान गैरहाजिर थे। उनके वकीलों ने एक महीने की छूट देने का अनुरोध किया। शहबाज के वकील अमजद परवेज ने अदालत से कहा कि उनके मुवक्किल की तबियत ठीक नहीं है और उन्हें यात्रा नहीं करने की सलाह दी गई है। हमजा के वकील राव औरंगजेब ने कहा कि उनके मुवक्किल को गंभीर पीठदर्द है और उन्हें आराम की जरूरत है। FIA के वकील फारूक बाजवा ने छूट पर आपत्ति नहीं जताई। तब अदालत ने छूट दे दी। 

FIA ने शहबाज परिवार के 28 बेनामी खातों का पता लगाया

बाजवा ने अदालत से कहा कि एजेंसी ने पीएम के दूसरे बेटे सुलेमा के 19 बैंक खातों का रिकार्ड प्राप्त कर लिया है जबकि अन्य सात के रिकार्ड प्राप्त किए जाने हैं। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने सात सितंबर तक के लिए मामले की सुनवाई स्थगित कर दी। उस दिन के लिए अदालत ने शहबाज और हमजा पर आरोप तय करने के सिलसिले में तलब किया है। अदालत को सौंपी गई FIA की रिपोर्ट के मुताबिक जांच टीम ने शहबाज परिवार के 28 बेनामी खातों का ‘पता ’ लगाया है। इनके माध्यम से 2008-18 के दौरान 16.3 अरब रूपये का मनी लॉन्ड्रिंग की गई।

 

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here