रूस-यूक्रेन युद्ध में पश्चिमी देश कूदे तो हो सकता है परमाणु हमला, पुतिन ने आखिर किस ओर किया इशारा


हाइलाइट्स

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा- यूक्रेन पर कार्रवाई जरूरी थी
पश्चिमी देश यूक्रेन के बहाने दुनिया पर अपना प्रभुत्व स्थापित करना चाहते हैं
परणाणु हथियारों पर राष्ट्रपति पुतिन ने कहा इनके इस्तेमाल का खतरा बना रहेगा

मॉस्को. रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने पश्चिमी देशों पर बड़ा आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि पश्चिमी देश यूक्रेन में संघर्ष को बढ़ावा देकर वैश्विक प्रभुत्व हासिल करना चाहते हैं. अंतरराष्ट्रीय नीति विशेषज्ञों के एक सम्मेलन में पुतिन ने अमेरिका और उसके सहयोगियों पर यूक्रेन के खिलाफ “खतरनाक और खूनी” वर्चस्व के खेल में अन्य देशों को अपनी शर्तों को निर्धारित करने की कोशिश करने का आरोप लगाया.

इस साल 24 फरवरी को रूस ने यूक्रेन में अपने सैनिकों को हमले के मकसद से भेजा था. रूसी नेता ने चेतावनी दी कि “जो इस संघर्ष को बढ़ावा देगा वह मुसीबत को निमंत्रण देगा.” पुतिन ने दावा किया कि “मानव जाति को अब चुनाव करना है. या तो समस्याओं का बोझ बढ़ाते रहें जो हर हाल में हम सभी को कुचल देंगी या ऐसे समाधान खोजने की कोशिश करें जो संभव है कि आदर्श नहीं हों, लेकिन फिर भी काम करेंगे और दुनिया को अधिक स्थिर और सुरक्षित बना सकते हैं.” पुतिन ने कहा कि रूस पश्चिम का दुश्मन नहीं है, लेकिन पश्चिमी नव-उदारवादी अभिजात वर्ग के फरमान का विरोध करना जारी रखेगा.

परमाणुू हथियारों को लेकर कही ये बात
पुतिन ने कहा हमारा स्लोगन ‘हम अपने आदमी का त्याग नहीं करते,’ हर रूसी नागरिक के अंतर्मन में है. अपने नागरिकों के लिए लड़ने का जज्बा सामाजिक एकजुटता का तानाबाना बुनता है. अगर यूक्रेन के खिलाफ विशेष ऑपरेशन न चलाया होता तो रूस की स्थित बद्तर हो जाती.  यह ऐतिहासिक तथ्य है कि रूस और यूक्रेन के लोग एक हैं. पुतिन ने रूस-यूक्रेन युद्ध को सिविल वॉर बताया. परमाणु हथियारों को लेकर पुतिन ने कहा कि जब तक इन शस्त्रों का अस्तित्व है, तब तक इनके इस्तेमाल का खतरा बना रहेगा.

यूक्रेन पर नहीं करेंगे परमाणु हमला- रूसी राष्ट्रपति
पुतिन ने कहा कि परमाणु हथियारों की धमकी कोई आज की बात नहीं है. यह बहुत पुरानी बात है. पश्चिम देश किसी और बहाने से रूस से पंगा लेना चाहते हैं. इस बात में दम नहीं है कि हम यूक्रेन पर परमाणु हथियारों से हमला करने जा रहे हैं. न तो राजनीतिक रूप से इसकी जरूरत है और न ही सामरिक रूप से. रक्षा मंत्री सर्गेई शोईगु को मैंने ही कहा था कि सभी को बताएं कि यूक्रेन डर्टी बम का इस्तेमाल कर उकसावे की कार्रवाई कर सकता है. हम अपने आप में पूर्ण हैं, हमे कुछ नहीं चाहिए.

Tags: Russia ukraine war, World news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here