Alina Kabaeva: एक बार फिर अमेरिका के निशाने पर आईं पुतिन की गर्लफ्रेंड, यूक्रेन को लेकर कर रहीं थी ये काम, दोबारा लगाए गए प्रतिबंध


Vladimir Putin GF Alina Kabaeva- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER
Vladimir Putin GF Alina Kabaeva

Highlights

  • अमेरिका ने पुतिन की गर्लफ्रेंड पर दोबारा प्रतिबंध लगाए
  • रूसी राष्ट्रपति पुतिन की गर्लफ्रेंड हैं अलीना काबेवा
  • वीजा फ्रीज कर संपत्तियों पर भी प्रतिबंध लगाया गया है

Alina Kabaeva: अमेरिका ने रूस के अभिजात वर्ग के कुछ चुनिंदा लोगों पर नए सिरे से प्रतिबंध लगाए हैं और इनके दायरे में शामिल लोगों में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की कथित प्रेमिका भी शामिल हैं। अमेरिका के वित्त मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन ने पूर्व ओलंपिक जिमनास्ट एवं ‘स्टेट ड्यूमा’ (रूसी संसद का निचला सदन) की पूर्व सदस्य अलीना काबेवा का वीजा फ्रीज कर दिया है और उनकी संपत्तियों पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। मंत्रालय ने कहा कि काबेवा रूस की एक मीडिया कंपनी की प्रमुख भी हैं, जो यूक्रेन पर रूसी आक्रमण का समर्थन करती है।

जेल में बंद पुतिन के आलोचक एलेक्सी नवलनी लंबे अरसे से काबेवा के खिलाफ प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि काबेवा की मीडिया कंपनी ने यूक्रेन पर रूसी आक्रमण को लेकर पश्चिमी देशों की टिप्पणी को दुष्प्रचार अभियान के रूप में चित्रित करने का बीड़ा उठा रखा है। ब्रिटेन ने मई में काबेवा के खिलाफ प्रतिबंधों को मंजूरी दी थी। वहीं, यूरोपीय संघ ने जून में उन पर यात्रा और संपत्ति संबंधी प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी। अमेरिका के वित्त मंत्रालय ने एंड्रे ग्रिगोरीविच गुरेव पर भी प्रतिबंध लगाए हैं, जो विटनहर्स्ट एस्टेट के मालिक हैं। 

बकिंघम पैलेस के बाद दूसरा बड़ा महल 

पच्चीस कमरों वाला विटनहर्स्ट एस्टेट लंदन में बकिंघम पैलेस के बाद दूसरा सबसे बड़ा महल है। उनकी 12 करोड़ डॉलर की कीमत वाली नौका (याट) अल्फा नीरो भी प्रतिबंध के दायरे में है। एंड्री के बेटे पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं। इससे पहले, अप्रैल में अमेरिका ने पुतिन की दोनों बेटियों-कैटरीना व्लादिमीरोवना तिखोनोवा और मारिया व्लादिमीरोवना वोरोत्सोवा पर प्रतिबंध लगाए थे। रूसी इस्पात निर्माता पब्लिकनो एक्त्सियनर्नो ऑब्सचेस्तवो मैग्नीतोगोर्स्की मेतलर्जिकेशकी कोम्बिनात जिन्हें एमएमके के नाम से भी जाना जाता है, उन पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं।

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के मुताबिक, इसके अलावा 893 रूसी संघ के अधिकारियों पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं। इन अधिकारियों में रूस के शीर्ष सैन्य अधिकारी भी शामिल हैं। इन सभी अधिकारियों के वीजा फ्रीज कर दिए जाएंगे। अमेरिका की वित्त मंत्री जेनेट येलेन ने एक वक्तव्य में कहा, ‘यूक्रेन पर रूस के अवैध आक्रमण के कारण मासूम लोगों को बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, जबकि पुतिन के सहयोगियों ने खुद को समृद्ध किया है और वे अत्यंत विलासितापूर्ण जीवन जी रहे हैं।’

अजोव रेजिमेंट  आतंकवादी समूह घोषित

रूस और यूक्रेन की ताजा जानकारी की बात करें, तो रूस के उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को यूक्रेन के अजोव रेजिमेंट को देश में प्रतिबंधित आतंकवादी समूह घोषित किया है। न्यायालय की इस घोषणा से रूस अब युद्धबंदी के तौर पर गिरफ्तार यूक्रेन के कैदियों पर आतंकवाद का मुकदमा चला सकता है। अजोव रेजिमेंट ने दक्षिण यूक्रेन के मारियुपोल शहर में रूस के साथ हुई लड़ाई में अहम भूमिका निभाई थी। रूसी अधिकारियों और सरकारी मीडिया द्वारा लगातार रेजिमेंट पर नाजियों की रणनीति अपनाने और यूक्रेन के गैर सैनिकों पर अत्याचार कराने के आरोप लगाए जा रहे हैं।

हालांकि, यूक्रेन की सेना की इस टुकड़ी को आतंकवादी समूह घोषित करने के समर्थन में सबूतों को सार्वजनिक नहीं किया गया है। यूक्रेन के नेशनल गार्ड में अजोव रेजिमेंट एक इकाई है। इसकी स्थापना कई स्वयंसेवक टुकड़ियों में से एक अजोव बटालियन से वर्ष 2014 में की गई थी। यह पूर्वी यूक्रेन में रूस समर्थक विद्रोहियों से लड़ रही यूक्रेन की अपेक्षकृत कम वित्तपोषित और सवालों में घिरी रही सेना की मदद करती है। रूस के महा अभियोजक कार्यालय ने अजोव को आतंकवादी समूह घोषित करने के लिए इस साल मई में प्रस्ताव पेश किया था। अजोव रेजिमेंट के कई लड़ाके इस समय मॉस्कों के बंधक हैं। रूसी अधिकारियों ने उनके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज किए है जिनमें आम नागरिकों की हत्या का मामला शामिल है।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here