China Heat Wave: चीन पर आई बड़ी आफत! लोग बिना बिजली-पानी के जीवन काटने पर हो रहे मजबूर


China Heat Wave- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV
China Heat Wave

Highlights

  • इस साल बिजली की मांग में 65 लाख kWh की वृद्धि हुई है
  • रोजाना का तापमान 40 डिग्री के आसपास बना हुआ है
  • सभी शो-ऑफ लाइट और इलेक्ट्रिक विज्ञापन बोर्ड की बिजली भी काट दी गई है

China Heat Wave: चीन में गर्मी और कम बारिश की वजह से लोग भीषण गर्मी का सामना कर रहे हैं। इस समय देश के कई हिस्सों गर्मी रिकॉर्ड तोड़ दी है। भीषण गर्मी के आलाव चीनी बिजली कटौती का भी सामना कर रहे हैं। कई प्रांतों में बिजली गुल होने से लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि गर्मी का सामना कैसे करें। चेंगदू, चोंगकिंग और ऐसी कई जगहों पर लोग बर्फ के सिल्लियों से काम चला रहे हैं। इस भीषण गर्मी के कारण लोगों को अपने घर में AC तेजी से लगवाया था लेकिन बिजली नहीं होने कारण एसी बंद हो पड़ा रहा गया है। वहीं कार्यालयों में एयर कंडीशनिंग सिस्टम बंद हो गया है और बर्फ के टुकड़े के सहारे कर्मचारी अपना काम कर रहे हैं।

बर्फ खत्म और काम खत्म 


ट्विटर की तरह एक यूजर ने चीन की माइक्रो ब्लॉगिंग साइट वीबो पर फोटो शेयर करते हुए लिखा कि ‘हमारे ऑफिस में एयर कंडीशनिंग सिस्टम पिछले दो दिनों से बंद है। ऐसे में ऑफिस के कई कोनों पर आइस ब्लॉक्स रखे गए हैं। ऐसा सीन मैंने सिर्फ कॉस्ट्यूम ड्रामा में देखा है। इस यूजर ने आगे लिखा कि इससे भी कोई मदद नहीं मिल रही है। कुछ कलीग अपने सीने पर बर्फ रखने को मजबूर हैं। दिन भर मेहनत करनी पड़ती है। जैसे ही बर्फ पिघलती है, तापमान 37.5 तक पहुंच जाता है। फिर काम करने का सारा उत्साह भी खत्म हो जाता है।

चेंगदू के शहरी इलाकों में रहने वाले कई लोगों को बिजली कटौती से परेशानियों का सामना कर रहे हैं। चीन के दक्षिण पश्चिम सिचुआन प्रांत में भीषण गर्मी ने सारे रिकॉर्ड पार कर गए हैं। यहां रोजाना का तापमान 40 डिग्री के आसपास बना हुआ है। एक यूजर ने लिखा कि ‘लंबी गर्मी की छुट्टी का मतलब मेरे लिए घर पर एसी में बैठकर वीडियो गेम खेलना या दोस्तों के साथ मॉल जाना था। लेकिन इस बार गर्मी ने मेरी जीवनशैली बदल दी है। घंटों बिजली नदारद रहती है और ऐसे में जनजीवन दूभर हो गया है।

मॉल में क्यों लग रही है भीड़?

स्थानीय बिजली कंपनी ने लोगों को बताया है कि मांग ज्यादा होने से ग्रिड फेल होने की समस्या बढ़ गई है। चेंगदू में लोगों ने बिजली बचाने के लिए एसी बंद कर दिए हैं। एसी की हवा खाने मॉल जाने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है और ऐसे में मॉल ऐसा कोई काम नहीं कर रहा है। सिचुआन इलेक्ट्रिक पावर कंपनी के मुताबिक पिछले साल की तुलना में इस साल बिजली की मांग में 65 लाख kWh की वृद्धि हुई है। सिचुआन में बिजली की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए कई उपाय अपनाए जा रहे हैं। यिबिन में 400 से अधिक उद्योगों ने उत्पादन बंद कर दिया है। चेंगदू में मनोरंजन स्थलों जैसे मॉल, इंटरनेट कैफे, बार, कराओके बार और चाय घरों में एसी को अगली सूचना तक बंद कर दिया गया है। इतना ही नहीं सभी शो-ऑफ लाइट और इलेक्ट्रिक विज्ञापन बोर्ड की बिजली भी काट दी गई है।

चीनी जनता को मिली आश्वासन

जानकारों का कहना है कि यह बिजली कटौती भीषण गर्मी के कारण हुई है। यांग्त्ज़ी नदी का पानी जुलाई से कम हो रहा है। ऐसा ही साल 1961 में हुआ था जब नदी में बहुत कम पानी बचा था। नदी की मुख्य धारा भी सूख रही है। चाइना इंस्टीट्यूट फॉर स्टडीज इन एनर्जी पॉलिसी के अध्यक्ष लिन बोकियांग ने कहा, “सिचुआन अपनी 77 प्रतिशत बिजली के लिए हाइड्रो-इलेक्ट्रिक सिस्टम पर निर्भर है।” लेकिन उन्होंने उम्मीद जताई है कि आने वाले एक-दो हफ्ते में हालात बदलेंगे। लिन ने कहा कि उद्योगों में 70 प्रतिशत बिजली की खपत होती है। ऐसे में बेहतर होगा कि उद्योग कुछ दिनों के लिए उत्पादन बंद कर दें।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here