Diwali Celebration in India & America: अमेरिका ह्वाइट हाउस में भी धूमधाम से मनी दिवाली, जो बाइडन की ओर से आया ये संदेश


प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi News

Image Source : INDIA TV
अमेरिका में मनाई गई दिवाली

Diwali Celebration in India & America: भारत के साथ ही साथ दिवाली का पर्व अमेरिका में भी धूमधाम से मनाया गया। इसका आयोजन खुद अमेरिका की ओर से कराया गया। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने उनके द्वारा आयोजित दीपावली समारोह में कहा कि धार्मिक स्वतंत्रता मूलभूत अमेरिकी मूल्य है और इसका समर्थन करना देश के राष्ट्रपति जो बाइडन की प्राथमिकता है।

ब्लिंकन ने बुधवार को प्रभावशाली भारतीय-अमेरिकियों की सभा में कहा, ‘‘धार्मिक स्वतंत्रता अमेरिका की कूटनीति का एक अमूल्य हिस्सा है, क्योंकि यह वास्तव में दुनिया के अन्य देशों और लोगों के साथ संबंध बनाने में हमारी मदद करता है।’’ ब्लिंकन ने कहा कि धार्मिक स्वतंत्रता एक मूलभूत अमेरिकी मूल्य है और इसका समर्थन करना राष्ट्रपति बाइडन की प्राथमिकता है।

दिवाली जोड़ने वाला त्यौहार


ब्लिंकन ने कहा, ‘‘दुनियाभर में सांस्कृतिक विरासत के अहम हिस्सों के संरक्षण में मदद देना धार्मिक विविधता के प्रति समर्थन दिखाने का तरीका है। हम संस्कृति के संरक्षण के लिए ‘यूएस एंबेसडर फंड’ जैसे प्रयासों के माध्यम से क्षतिग्रस्त ऐतिहासिक इमारतों का जीर्णोद्धार करने और खोई या चोरी हुई सांस्कृतिक वस्तुओं को फिर से प्राप्त करने के प्रयासों में मदद कर रहे हैं। दिवाली जैसे त्यौहार संबंधों को जोड़ने में मदद करते हैं। उन्होंने कहा कि फरवरी में अमेरिकी प्रशासन ने हिंदू देवता हनुमान की चोरी हो चुकी 500 साल पुरानी मूर्ति बरामद की और इसे भारत सरकार को लौटाया। जो बाइडन की ओर से कहा गया कि इस तरह के त्यौहार संबंधों को जोड़ते हैं।

दिवाली मनाना धार्मिक स्वतंत्रता के प्रति सहयोग का प्रतीक

ब्लिंकन ने कहा कि दीपावली जैसे समारोह मनाना धार्मिक स्वतंत्रता के प्रति सहयोग दिखाने का हमारा एक और तरीका है। यह पहली बार हुआ है, जब अमेरिकी विदेश मंत्री ने विदेश मंत्रालय के फोगी बॉटम मुख्यालय में दिवाली समारोह की मेजबानी की है। उन्होंने कहा, ‘‘दिवाली सबसे पवित्र मूल्यों का उत्सव है, यह परिवार के प्रति प्यार, प्रियजन और अजनबियों के प्रति दया दिखाने का उत्सव है, यह क्षमा, आभार एवं नयी शुरुआत का त्योहार है। यह दिन हमें व्यक्तिगत संवाद और हमारे समुदायों की सेवा के माध्यम से अच्छे आचरण एवं धर्म के पालन के महत्व की भी याद दिलाता है।

अमेरिका में बढ़ा प्रवासी भारतीयों का प्रभाव

आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन’ के अजय तेजस्वी ने स्वागत समारोह में ब्लिंकन द्वारा पारंपरिक दीपक जलाने से पहले प्रार्थना की। ‘इंडियास्पोरा’ के संस्थापक एम आर रंगास्वामी ने कहा कि अमेरिका में भारतीय प्रवासियों की संख्या और प्रभाव बढ़ा है तथा यह देखकर खुशी होती है कि अब देशभर में राष्ट्रीय स्तर पर दिवाली मनाई जा रही है। अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए अमेरिका के विशेष दूत राशिद हुसैन ने इस अवसर पर कहा कि अमेरिका प्रत्येक व्यक्ति के लिए धार्मिक स्वतंत्रता का आह्वान करता है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे संविधान द्वारा प्रदत्त धार्मिक स्वतंत्रता हमारे मिशन का मूल है।

जो बाइडन और और उनकी पत्नी जिल बाइडन ने ह्वाइट हाउस में मनाई दिवाली

इस मिशन में पाकिस्तान और बांग्लादेश जैसे देशों में हिंदू समुदायों के प्रति हमारा समर्थन शामिल है।’’ हुसैन ने कहा, ‘‘मुझे इस साल की शुरुआत में बांग्लादेश में गाजीपुर स्थित उस मंदिर में जाने का मौका मिला, जिस पर दुर्गा पूजा के दौरान हमला किया गया था। हम उन लोगों से प्रेरणा लेते हैं, जिन्होंने त्रासदी की स्थिति में भी अविश्वसनीय ताकत दिखाई और आतिथ्य-सत्कार सुनिश्चित किया।’’ इससे पहले, राष्ट्रपति बाइडन और प्रथम महिला जिल बाइडन ने सोमवार को व्हाइट हाउस में दीपावली समारोह आयोजित किया था।

Latest World News





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here