Shinzo Abe: शिंजो आबे पर हमले के बाद खुशियां मना रहे हैं चीनी, सोशल मीडिया पर कर रहे मरने की दुआ


Highlights

  • चीनी कार्टूनिस्ट ने शेयर कीं मीडिया पोस्ट
  • चीन को घेरने के लिए बने ‘क्वाड’ में शिंजो आबे की थी अहम भूमिका
  • भारत से था लगाव, बतौर पीएम सबसे ज्यादा बार की भारत की यात्रा

Shinzo Abe: पीएम मोदी के दोस्त और पूर्व जापान पीएम शिंजो आबे की हालत बेहद नाजुक है। हमलावर ने दो बार फायर करके उन पर जानलेवा हमला किया। इस खबर से जहां सभी दुखी हैं, वहीं चीन में लोग खुशियां मना रहे हैं और ​क्रूर चीनी लोग आबे के मरने की दुआ कर रहे हैं। चीन के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Weibo लोगों ने पोस्ट की है। इसमें उन्होंने शिंजो आबे को गोली मारने पर खुशियों से भरे पोस्ट किए हैं। आज सुबह ही जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे पर नारा शहर में एक जनसभा के दौरान एक शख्स ने गोलियां चला दीं थीं। इसके बाद से उनकी हालत बेहद गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें बचा पाना मुश्किल है। फिलहाल शिंजो आबे का इलाज चल रहा है और उनकी हालत लगातार गंभीर बनी हुई है। हमले के बाद उन्हें आनन-फानन में एयरलिफ्ट कर अस्पताल ले जाया गया था। 

गंभीर रूप से घायल आबे को विमान से एक अस्पताल ले जाया गया लेकिन उस समय उनकी सांस नहीं चल रही थी और हृदय गति रुक गयी थी। बताया जाता है कि आबे को गोली लगने के बाद दिल का दौरा पड़ा। मुख्य कैबिनेट मंत्री हिरोकाजू मात्सुनो ने बताया कि पुलिस ने नारा में घटनास्थल से एक संदिग्ध शख्स को गिरफ्तार किया है। मात्सुनो ने कहा, ‘इस तरह का बर्बर कृत्य पूरी तरह अक्षम्य है, चाहे इसकी कुछ भी वजह हो और हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं। 

भाषण शुरू करने के कुछ मिनट बाद हमला

जापान के सरकारी न्यूज चैनल  ‘एनएचके’ ने घटना का एक फुटेज प्रसारित किया है, जिसमें 67 वर्षीय आबे को सड़क पर गिरते हुए देखा जा सकता है और कई सुरक्षाकर्मी उनकी ओर भागते हुए देखे जा सकते हैं। पश्चिमी नारा में एक मुख्य ट्रेन स्टेशन के बाहर जब आबे ने भाषण देना शुरू किया तो उसके कुछ ही मिनटों बाद उन पर गोली चलाई गई। इसी बीच जापान के पीएम फुमियो किशिदा हेलिकॉप्टर से टोक्यो पहुंचे।

चीनी कार्टूनिस्ट ने शेयर कीं मीडिया पोस्ट

ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले चीनी राजनीतिक कार्टूनिस्ट बादिउकाओ ने ट्वीट कर कुछ चीनियों की सोशल मीडिया पोस्ट्स को शेयर किया है। इस पोस्ट से पता चलता है कि चीनियों ने शिंजो आबे पर हमला होने पर किस तरह खुशियां जताई हैं। बादिउकाओ कार्टूनिस्ट हैं और अपनी पहचान को छिपाने के लिए उन्होंने यह पेन नेम रखा है।

चीन को घेरने के लिए बने ‘क्वाड’ में शिंजो आबे की थी अहम भूमिका

शिंजो आबे ने क्वाड संगठन की स्थापना में अहम योगदान दिया था। चीन के बढ़ते प्रभाव को कम करने में उनकी कोशिशों से चीन काफी चिढ़ता था। आबे ने चीन विरोधी देशों अमेरिका, भारत, आस्ट्रेलिया के साथ मिलकर चीन को घेरने के लिए क्वाड के गठन में खास भूमिका निभाई थी। 

पीएम मोदी और आबे में थी खास दोस्ती

जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे पीएम मोदी के गहरे दोस्त रहे हैं। उन्होंने भारत दौरे के दौरान दोनों देशों के ​आपसी हितों की बात कही थी। दोनों की दोस्ती को देखकर भी चीन काफी चिढ़ गया था। शिंजो आबे के कार्यकाल में जापान ने भारत को बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए अन्य देशों के मुकाबले बेहद कम दर पर लोन मुहैया कराया था। वहीं लोन वापसी का समय भी 25 वर्षों की जगह 50 वर्ष रखा गया। 

भारत से था लगाव, बतौर पीएम सबसे ज्यादा बार की भारत की यात्रा 

शिंजो आबे भारत से खास लगाव महसूस करते थे, यही वजह थी कि वह एक ऐसे जापानी प्रधानमंत्री थे जिन्होंने अपने कार्यकाल में सबसे ज्यादा बार भारत का दौरा किया था। पहली बार भारत शिंजो आबे साल 2006-07 में अपने पहले कार्यकाल के दौरान आए थे। उसके बाद साल 2012-20 के अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान शिंजो आबे ने भारत का तीन बार दौरा किया था। यह तीनों दौरा साल 2014, 2015 और सितंबर 2017 में हुआ था। शिंजो आबे ने साल 2020 के अगस्त में जापान के प्रधानमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here